Friday, 13 November 2015

दिवाली का राम राम सा.!!

भायां नै भोजायां नै
लोगां नै लुगायां नै,
बायां नै'र दायां नै,
दिवाली का राम राम, बड़े घरां जायां नै !
राज के जवांयां नै,
कौम के कसायां नै,
भूखा और धायाँ नै,
दिवाली का राम राम, फौज का सिफायां नै !
बार नै, त्यौहार नै,
जुवे जेड़ी हार नै ,
कार नै बेकार नै,
दिवाली का राम राम, जीत्योड़ी सरकार नै !
मनरेगा के दाणे नै,
शीला जी के गाणे नै,
गूंगे गेले स्याणे नै,
दिवाली का राम राम, कोतवाली थाणे नै !
भूली बिसरी डाक नै
मोबाइल री धाक नै
बायाँ री पोशाक नै
दिवाली का राम राम, रोज कटती नाक नै
मिलावट के माल नै ,
मंहगाई की चाल नै,
जनता के बेहाल नै ,
दिवाली का राम राम, ओज्युं आती साल नै !
दिवाली का राम राम सा.!!

No comments:

Post a Comment