Monday, 9 May 2016

आका तीज

  आकङे रो हलीयो
नींबङे री नाई
रमतौ खेलतौ  बाजरी भई
बाजरी रै बूटै मै ढैलङी बीयाई
ढैलङी रा बीसीया
  राता है मौरै मौमौ सा माता है

बैगा ऊटजौ हल खङजौ
गरमा गरम खीच खाजौ
और टौकरीया बजाजौ

आका तीज रा गणा गणा राम राम सा

No comments:

Post a Comment