Saturday, 10 October 2015

टाबराँ कै पोतड़ियै

WhatsApp भी
टाबराँ कै पोतड़ियै जिस्यो हो ग्यो,
की
आओ या ना आओ,
थोड़ी-थोड़ी देर म खोलकै देखणों पड़ै  ।

No comments:

Post a Comment